Blue Whale Suicide Challenge Game क्या है किसने और क्यू बनाया-in hindi

Blue Whale Suicide Challenge Game क्या है, आये दिन अख़बारों और न्यूज़ में ब्लू व्हेल गेम के बारे में खबरें आती रहती हे. इस गेम से आज तक ना जाने कितने ही बच्चों की मौत हो चुकी हे. कोई इंसान सपने में भी नहीं सोच सकता की आखिर एक गेम किसी इंसान की मौत का जिम्मेदार होगा. जिन गेम्स को हम मनोरंजन के लिए खेलते हे, कभी सोच भी नहीं सकते की ऐसा कोई गेम किसी की जिंदगी ले लेगा. आईये जानते हे की आखिर Blue Whale Challenge गेम, किसने बनाया, क्या होता हे इस गेम में और कैसे किसी की जान तक ले लेता हे यह गेम.

what is Blue Whale Suicide Challenge Game
किसने बनाये यह खतरनाक गेम?
इस गेम को रूस के एक व्यक्ति ‘फिलिप बुदेकीन’ ने बनाया था. इस गेम को बनाने वाला 2013 से ही जेल में हे. फिलिप के जेल जाने के पीछे का कारण लोगों को मौत के लिए उकसाना था. जब फिलिप से पूछा गया की आपने इस तरह का गेम क्यों बनाया तो उन्होंने कहा की यह बायोलोजिकल वेस्ट (जैविक कचरा) को खत्म करता हे. इस गेम को बनाने के बाद रूस में हुयी मौतों से फिलिप को जेल जाना पड़ा था.

फिलिप की घटिया सोच
इस गेम को बनाने के पीछे फिलिप की घटिया सोच थी. वह सोचता था की जो लोग समाज का कचरा हे और कुछ काम के नहीं हे, उन्हें जीने का अधिकार नहीं हे. आज तक इस गेम से 150 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी हे. आज भले ही फिलिप जेल में हे लेकिन उनका बनाया गेम आज भी लोगों की जाने ले रहा हे.

Blue Whale Suicide Game क्या है



इस गेम में फिलिप उन लोगों को खोजता था जो कमजोर दिल के हे और जिन्हें आसानी से बहला-फुसलाया जा सके. फिर उनसे स्काइप पर विडियो चैट करता था और उन्हें यह गेम खेलने के लिए उकसाता था. इस गेम में बनाये गए एडमिन लोगों को रोजाना एक टास्क देता हे जिन्हें उन्हें पूरा करना होता हे. यह सारे टास्क 50 दिन के अंदर पुरे होते हे और 50 वें दिन खुद को अपनी जान लेकर इस गेम को पूरा करना होता हे.

क्या थी टास्क पूरा करने की प्रोसेस?



इस गेम में हर प्लेयर को ऐसे टास्क दिए जाते थे जिससे वो खुद को नुकसान पहुंचाए और हर टास्क के पूरा होने के बाद अपने हाथ पर एक कट लगाना होता था. अगर कोई टास्क पूरा नहीं करता था तो उसे धमकी दी जाती थी. हर टास्क पूरा करने के बाद उसकी तस्वीर या विडियो लेकर एडमिन तक पहुँचाना था. उसके बाद उस टास्क को पूरा माना जाता था. आखिर टास्क में भी सुसाइड का फोटो लेकर सेंड करना होता था.
जब कोई मरता था तो उसके हाथ पर एक मछली की आकृति बन जाती थी. फिलिप लोगों के इमोशन से खेलता था और फिर उनकी जिंदगी ले लेता था. इस गेम को इस तरह से बनाया गया हे की अगर कोई एक बार इस गेम को खेल ले तो वह उसका आदि बन जाता हे और खुद को मौत के हवाले कर देता हे.
क्या कहना हे गेम को खेलने वाले उन प्लेयर का, जो बच गए?
अभी हाल ही में जोधपुर की लड़की को नदी में कूदने के बाद बचाया गया, तो उसके हाथ पर एक ‘व्हेल’ की आकृति थी. उससे जब इस गेम के बारे में पूछा गया तो उसने कहा की उसने यह गेम न्यूज़ पर इसके बारे में सुनकर जिज्ञासावश डाउनलोड किया था उसे नहीं पता था की वह इस गेम के जाल में फंस जाएगी. उसने लोगों से इस गेम को ना खेलने का आग्रह किया हे

इस गेम से बचने केलिए आप काहीसे भी इसे download ना करे ,क्यू की गोवेरमेंट ने ईस पर आरोप लगदिया है आप अपने दोस्तों को भी इसके बारेमे बताये आपको हमारी जानकारी अछि लगी है तो share जरुरु करे और लोगो की हेल्प करे ,

No comments:

Powered by Blogger.