जानिये कब और कैसे होगा पृथ्वी का अंत -how to destory earth in hindi

 टाइटल पढ़कर आप चौंक गए होंगे, लेकिन सच हे कभी ना कभी तो पृथ्वी का अंत होना ही हे. कहने वाले ने सच ही कहा हे “हमने इसी धरती पर जन्म लिया, यहीं खाया-पीया, यही जीवन यापन किया और अंत में इसी धरती में समा जायेंगे”. एक ना एक दिन तो सब समाप्त होना हे. सतयुग के बाद कलयुग आया और कलयुग के बाद वापिस सतयुग आएगा. वैसे इस बात का कोई पक्का सबुत नहीं हे की पृथ्वी कब और कैसे समाप्त होगी, लेकिन इसके अनुमान लगाए जा रहे हे.



How to destory earth in hindi,-पृथ्वी का नाश कैसे और कब होगा-prediction about earth end

कहते हे की मौत, प्रलय और समस्या देख कर नहीं आती, कभी भी आ जाती हे. शास्त्रों में चार तरह के प्रलय बताये गए हे. पहला पृथ्वी से जीवन का समाप्त होना, दूसरा पृथ्वी का अंत होना, तीसरा ग्रह-नक्षत्रों का समाप्त होना और चौथा ब्रह्म लीन होना. अब इनमे से कौनसी प्रलय आएगी कुछ कह नहीं सकते. जो जन्मा वो मरेगा भी और जिसका उदय हुआ हे उसका अस्त भी होगा. आईये जानते हे की पुराणों में पृथ्वी के अंत के बारे में क्या कहा गया हे.

How to destory earth in hindi,-पृथ्वी का नाश कैसे और कब होगा-prediction about earth end


कब और कैसे होगा पृथ्वी का अंत

1. जब होगा कलयुग का अंत

भगवदगीता में कहा गया हे जैसे-जैसे घोर कलयुग बढ़ता जायेगा वैसे-वैसे धर्म, दया, पूण्य, संस्कार, क्षमा, बल आदि का लोप होता जायेगा और यह कलयुग समाप्त होकर सतयुग का उदय होगा.

2. गर्मी से

महाभारत में कहा गया हे की पृथ्वी का अंत गर्मी से होगा. कहा गया हे की सूर्य का तापमान इतना बढ़ जायेगा की आने वाले टाइम में नदियाँ और तालाब सब सुख जायेंगे, बरसात नहीं होगी और सब कुछ जल कर भस्म हो जायेगा.

3. ज्वालामुखी के फटने से

ज्वालामुखी के फटने से पहले भी बहुत नुकसान हो चूका हे. 1816 में ज्वालामुखी के फटने से करीब 1.5 लाख लोगों की जान गयी थी. ऐसे में धरती का सबसे बड़ा ज्वालामुखी फट गया तो क्या होगा. अगर ऐसा होता हे तो चारों और धुल के गुब्बारे बन जायेंगे जो सूर्य की किरणों को धरती पर नहीं आने देंगे और इस धरती का अंत हो जायेगा.

4. लोगों की भविष्यवाणियाँ

बाबा वालकांस ने भविष्यवाणी की थी की 5079 में सारी दुनिया समाप्त हो जाएगी. खैर बाबा तो नहीं रहे लेकिन देखते हे उनकी भविष्यवाणी कितनी सच होती हे. कहते हे की बाबा की ज्यादातर भविष्यवाणियाँ सच साबित हुयी हे. पहले कहा जा रहा था की 21 दिसम्बर 2012 को पृथ्वी का अंत हो जायेगा, उस बात को तो 5 साल होने आये हे. देखते हे लोगों की भविष्यवाणियाँ कितनी सच होती हे.

5. अन्य कारण

इन सब कारणों के अलावा सूर्य के तापमान के बढ़ने से, पराबैंगनी किरणों से, ओक्सीजन की कमी से, केमिकल रिएक्शन से, खराब होती जीवनशैली से आदि सभी कारणों से भी जीवन का अंत होना तय हे.
खैर पृथ्वी का अंत कब और कैसे होगा इसके बारे में कोई सच में कुछ नहीं कह सकता, लेकिन पुराणों में मिले लेख के आधार पर लोगों का कहना हे की उपर दिए गए कारणों से पृथ्वी का अंत होगा और कब होगा यह हम कह नहीं सकते. डरने की कोई बात नहीं हे, अपनी जिंदगी को खुल कर जीयें, प्यार से रहें और लोगों की मदद करें. मारना और बचाना दोनों भगवान के हाथ में हे और हाँ पोस्ट अच्छी लगी हो शेयर करें और कमेंट करें.

No comments:

Powered by Blogger.