बाबा राम रहीम का जीवन परिचय और इतिहास जन्म से जेल तक का -baba ram rahim biography and history in hindi

बाबा राम रहीम का जीवन परिचय और इतिहास जन्म से जेल तक का | baba ram rahim biography and history in hindi

पहले आसाराम, फिर रामपाल और अब बाबा राम रहीम. अपने वहशी कारनामों की वजह से आज यह सारे बाबा जेल में हे. इन्होने ना सिर्फ संत समाज का नाम खराब किया हे बल्कि इंसानियत का मजाक बना दिया हे. अभी हाल ही में गुरमीत राम रहीम को हाईकोर्ट ने अपनी ही साध्वियों से दुष्कर्म करने के मामले में 20 साल की सज़ा सुनाई हे. अपनी लाइफस्टाइल के लिए जाने जाना वाला बाबा आज बलात्कार का दोषी हे. आईये जानते हे इसकी पूरी कहानी 

बाबा राम रहीम का जीवन परिचय और इतिहास-baba ram rahim biography and history in hindi


जन्म और जीवन की कहानी 


राम रहीम का जन्म राजस्थान के श्री गंगानगर में 15 अगस्त 1967 को हुआ था. उनकी माँ का नाम नसीब कौर और पिता का नाम माघर सिंह हे और वे अपने माता-पिता की इकलोती सन्तान हे. 1990 में डेरा के पहले संत सतपाल ने उन्हें अपना उतराधिकारी बनाया. राम रहीम की शादी हरजीत कौर से हुयी थी और उनके तीन बेटियाँ और एक बेटा हे.  राम रहीम को डॉक्टरेट की उपाधि भी प्राप्त हे. 
 हिस्ट्री

लग्जरी लाइफ 


राम रहीम अपनी लग्जरी लाइफ के लिए जानते जाते हे. जब बाबा का काफिला चलता हे तो उनके पीछे इतनी लग्जरी गाड़ियां चलती हे, जितनी तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले में भी नहीं चलती हे. उनका रहन-सहन, कपड़े और लाइफस्टाइल सभी संतो से अलग हे. उनके पास अरबों का साम्राज्य हे. 
जेल तक पहुँचने की पूरी कहानी

सन 2002 में डेरे की एक साध्वी ने उस समय के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को एक चिट्ठी लिखी थी जिसमे उन्होंने अपने साथ और अन्य साध्वियों के साथ हुए यौन शोषण के बारे में बताया था. उन्होंने चिट्ठी में लिखा की किस तरह बाबा साध्वियों को गुफा में बुलाकर उनका रेप करता था और उन्हें तथा उनके परिवार को जान से मारने की धमकी देता था. 

जब साध्वी को ‘बाबा की गुफा’ में बुलाया गया तो वो खुश थी की आज परमात्मा ने उसे खुद बुलाया हे, लेकिन उसे पता नहीं था की उसकी यह ख़ुशी बस कुछ ही पलों की हे. गुफा में बाबा ने उसे अपने पास बैठाया और उसके साथ अश्लील हरकतें करनी शुरू कर दी उसके रोकने पर बाबा ने कहा की हम ही तुम्हारे भगवान हे और बाबा ने साध्वी और उसके परिवार को जान से मारने की धमकी दे उसका बलात्कार कर लिया.
साध्वी के अनुसार बाबा की गुफा में हर रोज नई लड़की आती थी, जिसका बाबा रेप करता था. इन लड़कियों को बाबा की खास दासी अंदर लाती थी. रेप का कोड वर्ड ‘बाबा की माफ़ी’ था. गुफा में बाबा लड़कियों को उनकी गलतियां बताकर उनका रेप करके उन्हें माफ़ी देता था. ना जाने कितनी ही लड़कियों का इस बलात्कारी बाबा ने रेप किया होगा.



सज़ा और हिंसा

साध्वियों से यौन शोषण के मामले में हाईकोर्ट ने उन्हें 20 साल की सज़ा सुनाई हे. जब उनके भक्तों को इसके बारे में पता चला तो उन्होंने पुरे पंचकुला को जला दिया. इसके अलावा पंजाब, करनाल, दिल्ली, श्रीगंगानगर में हिंसा और तोड़फोड़ की गई. अपने कारनामों से लोगो को हैरान करने वाला बाबा आज सामान्य कैदियों की तरह जेल में हे. कहते हे ना अपराध कभी छुपता नहीं हे, कभी ना कभी सामने आ ही जाता हे.

No comments:

Powered by Blogger.